अपनी ज़िंदगी में हर कोई खुश रहना चाहता है पर हर चीज़ मिलने के बाद भी वे इंसान अपनी ज़िंदगी से नाराज़ ही होता है क्या आपने कभी सोचा है बलहा ऐसा क्यों है तो अगर आसान भाषा में कहे तो यह हमारे मन की वजह से होता है जो हमे खुश नहीं रहने देता और इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने इस आर्टिकल में कुछ ऐसे गुणों के बारे में बताया है जो की हर एक व्यक्ति के अंदर होने चाहिए अगर वे अपनी ज़िंदगी में हमेशा खुश रहना चाहते है |

यह भी पढ़े: क्या आदतों दुवारा ही सफलता की प्राप्ति होती है जानिए संक्षिप्त में

श्लोक-
सत्यं क्षमार्जवं ध्यानमानृशंस्यमहिंसनम्।
दमः प्रसादो माधुर्यं मृदुतेति यमा दश।।

मित्रता – जो मनुष्य आसानी से दूसरों के मन में अपने लिए जगह और अपनापन बना लेता है, वह बहुत ही भाग्यशाली माना जाता हैं। क्योंकि मित्रता ही जीवन की सबसे बड़ी पूंजी मानी जाती हैं।

नीति – हर किसी के जीवन में अपने कुछ उसूल होने ही चाहिए। नीतियों का पालन करने वाला कभी भी गलत काम की ओर आकर्षित नहीं होता और समाज में सम्मान का बनता है।

वीरता – कई लोग दूसरों के डर या दवाब के कारण गलत काम करने पर मजबूर हो जाते हैं। इसलिए हर किसी में निडरता से अपनी बात कहने और सच बोलने का गुण होना चाहिए।

क्षमा – दूसरों की गलतियां माफ़ कर देना मनुष्य का सबसे ख़ास गुण माना जाता है। जिन लोगों में दूसरों को माफ़ करने की क्षमता होती हैं, उन लोगों के जीवन में सुख-शांति हमेशा बनी रहती है।

लज्जा – कई लोग स्वभाव से बेशर्म होते हैं, जिससे दूसरों के सामने उनकी नेगेटिव इमेज बनती है और परेशानियों का सामना करना पड़ता है। हर किसी में लज्जा यानी शर्म होनी चाहिए।

उधोग – उधोग का गुण यानी धन कमाने की कला। यह सबसे अहम गुणों में से एक होता हैं। हर किसी में सही रास्ते पर चलते हुए जीवनयापन के लिए धन कमाने की कला होनी चाहिए।

दया – दूसरों के प्रति प्रेम और दया की भावना होनी ही चाहिए। उदार स्वाभाव वाले मनुष्य पर भगवान सदैव प्रसन्न रहते हैं और उसकी सभी इच्छाएं पूरी होती हैं।

अंतिम शब्द

इस आर्टिकल में हमने कुछ ऐसे गुणों के बारे में जाना जिसकी मदद से आप ज़िंदगी में हमेशा खुश रह सकते है जो की ज़िंदगी जीने के एक महत्वपूर्ण पार्ट है पर इस बात का ध्यान रखे की गुणों को पड़ने के बाद इसे अपनी ज़िंदगी में अपनाने की भी कोशिश करे तभी आपको नतीजे के तौर पर खुशी महसूस होने लगेगी |

और पढ़े:-

Write A Comment