शारदीय नवरात्र का आज सातवां दिन है और आज मां दुर्गा के 

सातवें स्वरूप मां कालरात्रि की पूजा और अर्चना का विधान है।

 मां के इसी स्वरूप के कारण ही इनका नाम कालरात्रि पड़ा

बाल बिखरे हुए हैं और इनके गले में दिखाई देने वाली माला बिजली की भांति देदीप्यमान है

इन्हें तमाम आसुरिक शक्तियों का विनाश करने वाला बताया गया है,

कालरात्रि माता को सभी सिद्धियों की भी देवी कहा जाता है,

इसीलिए सभी तंत्र मंत्र के उपासक इस दिन इनकी विशेष रूप से पूजा करते हैं। 

इनके नाम के उच्चारण मात्र से ही भूत, प्रेत, राक्षस, दानव और सभी पैशाचिक शक्तियां भाग जाती हैं।