अपनी ज़िंदगी में हर कोई सफल होना चाहता है पर हर तरह का ज्ञान होने के बावजूत हर एक इंसान कामयाबी हासिल नहीं कर पाता क्या आपने कभी इसके पीछे का कारण जानने की कोशिश की है।

काफी लोगो का मानना होता है की यह पूरी तरह से हमारे mindset पर निर्भर करता है जिसकी वजह से इंसान अपनी ज़िंदगी में कामयाबी और अन्य चीज़ो को हासिल कर पाता है पर mentally strong नहीं होता जिसकी वजह से वे अपनी ज़िंदगी में सफलता के रास्तो को खोल नहीं पाता।

यह समस्या काफी लोगो में देखि गयी है हो सकता है कही न कही आप भी इस समस्या का सामना कर रहे है तो आपकी मदद करने के लिए इस आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे तरीको के बारे में बताने वाले है जिसकी मदद से आप mentally strong बन पाएंगे और अपनी ज़िंदगी में कामयाबी के शिखर को हासिल कर पाएंगे।

यह भी पढ़े: ये 7 गुण आपको बचा सकते है किसी भी संकट से

मानसिक रूप से मजबूत होने का क्या मतलब होता है?

कोई भी इंसान मानसिक रूप से मजबूत है, इसका मतलब (Mentally Strong Meaning) होता है उसका दिमाग से ऐसी स्थिति में होना जिससे कोई भी प्रेशर आए तो वह हल्के फुल्के तरीके से उसे झेल लें।

परेशानी के समय भी दिमाग काफी फिट रहे। दिमाग में असफलता, तनाव या समस्या के प्रेशर झेलने की काफी कैपेसिटी हो।

जिसको किसी तरह से कोई भी फोबिया नहीं हो, जो स्ट्रेस, डिप्रेशन, टेंशन, एंजाइटी से दूर रहता है और किसी भी प्रकार की समस्या को बिना परेशान हुए हल कर लेता है।

ऐसी स्थिति में यदि किसी व्यक्ति का Mindset हो तो उस इंसान को मानसिक रूप से मजबूत बोलेगें।

Mentally strong इंसान किसी भी प्रकार की विषम परिस्थितियों को हैंडल कर लेता है और हमेशा खुशहाल रहता है। ऐसे व्यक्ति का सामाजिक जीवन भी अच्छा रहता है।

ऐसे लोगों से हर कोई दोस्ती रखना चाहता है क्योंकि ऐसा व्यक्ति हर किसी से जीवन में आने वाली बुरी परिस्थितियों में उसका साथ भी देता है।

मानसिक रूप से मजबूत होने के फायदा

1. Mentally strong व्यक्ति अपने इमोशन को भी हैंडल करने में उस्ताद होता है और ये Mentally ups & down को भी संभाल लेता है।

2. मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति कभी अपनेआप पर शक नहीं करते हैं, ये self doubts से दूर रहते हैं। जीवन में यदि सबकुछ हमारे अनुसार नहीं हो रहा होता है, हम अपना पूरा efforts भी दे रहे होते हैं फिर भी सफल नहीं होते हैं तब self doubts होने लगता है।

कोई भी साधारण इंसान ऐसी स्थिति में खुद पर शंका करने लगता है लेकिन mentally strong व्यक्ति कभी खुद पर शंका self doubts नहीं करता है।

3. Mentally strong होने से अंदर से साहस (courage) मिलता है, जिससे हर प्रकार के डर (fears), असफलता से सामना करने की शक्ति प्राप्त होती है।

4. मानसिक रूप से मजबूत होने से गलती होने पर हम घबरा नहीं जाते है, बल्कि हमारी mental strength हमें उन गलतियों से सीखना का मौका देती है।

असफल हो जाने के बाद फिर से कुछ करने के लिए खड़ा होना mentally strong व्यक्ति के लिए ही मुमकिन होता है, mentally weak व्यक्ति तो एक बार ही हार जाने के बाद हार मान लेते हैं।

5. Mentally strong बनने से self worth (आत्म मूल्य) high हो जाती है। ऐसा व्यक्ति अंदर से मजबूत होता है और वह अपने आत्म गौरव को महसूस कर सकता है।

6. Mentally strength होने से किसी भी प्रकार का मोटिवेशन लंबे समय तक बना रहता है। Motivation बने रहने से ही रुके हुए काम भी आसानी से हो जाते हैं।

7. Mental strength से Happiness का graph बढ़ता है। Negative thoughts नहीं आते हैं और पॉजिटिविटी बरकरार रहती है।

मानसिक रूप से मजबूत होने के फायदे जानने के बाद ये जान लेना बहुत जरूरी है कि आखिर अपनी Mental Strength को Build कैसे करें।

“Mentally Strong Kaise Bane” को आगे के topics में जानने का प्रयास करते हैं।

मानसिक रूप से मजबूत होने के लिए जरूरी टिप्स (Tips to Being Mentally strong) निम्नलिखित है:-

मानसिक रूप से मजबूत कैसे बनें?

Mentally strong बनने के लिए कुछ छोटी छोटी आदते हैं जिसको अपने लाइफ में अपनाना जरूरी होता है, इसके साथ साथ कुछ छोटे छोटे टिप्स को follow करना पड़ता है।

इस छोटी छोटी आदतों से ही Positive Mindset और High Energy का हमारे जीवन में विकास होता है। आज मैं आपको मानसिक रूप से मजबूत होने के तरीके (Ways to be Mentally Strong) बताऊंगा जिन्हें आप जरूर अपनाएं:-

1. सुबह उठते ही अपना बिस्तर सही करें

Limitless के author और Elon Musk के mind trainer, Jim Kwik का भी मानना है कि सुबह में उठते ही अपना बेड सबसे पहले बनाने से आप अपने दिन का पहला टास्क पूरा करते हैं।

ऐसा करने से पूरे दिन उस पहले काम का पॉजिटिव वाइब्रेशन बना रहता है। इसका फायदा एहोता है कि अब पूरे दिन हम जो भी काम शुरू करते हैं तो ऐसा लगता है कि इस काम को खतम करके ही हम दूसरा काम शुरू करेंगे।

हर सुबह अपना bed बनाने से mental discipline बनता है। जीवन में सफल होने के लिए mental discipline की बहुत जरूरत होती है।

अपने बेड को सही करना (Making bed) Mindfulness practice करने का बहुत सही तरीका है।

सुबह उठते ही अपना bed बनाने की आदत कई लोगों में नहीं होती है जबकि National sleep foundation के मुताबिक अपना bed खुद ठीक करने से नींद की क्वालिटी भी सुधर जाती है।

Mentally strong बनने की दिशा में जो पहला टास्क है वो यही है कि आप सुबह में उठे तो सबसे पहले आप अपने बिस्तर को ठीक करने पर फोकस करें। अपना Bed संवार लें, आपका दिन भी संवर जायेगा।

2. रोज 10 मिनट तक अपने Goal को Visualize करें

अपने goals को daily 10 minute अपने माइंड में Visualize करें, अपने Goals को फील करने की कोशिश करें।

आप के माइंड में ये सवाल आ सकता है कि mentally strong बनने में और अपने Goals को Visualize करने में क्या संबंध है?

मानसिक रूप से मजबूत बनने के पीछे भी तो हमारा यही उद्देश्य है कि हम अपने goals को, अपने लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लें। और Visualization करने के अपने ही अलग फायदे होते हैं।

यदि हम अपने लक्ष्य को रोज Visualize करते हैं तो हमारे अंदर इसे पाने का विश्वास, उत्साह और इच्छा बढ़ने लगती हैं और हम अपने Actions पर फोकस कर पाते हैं।

इसलिए रोजाना 10 minute अपने goals को Visualize करना शुरू कर दें, आपको बहुत फायदे होंगे।

3. अपने प्रत्येक दिन की अच्छी बातों के बारे में डायरी में लिखें

संदीप माहेश्वरी जी ने अपने कई सारे सेशन में कहा है कि हर किसी को Daily basis पर एक Gratefulness का Journal लिखना चाहिए और उसे अपने साथ bed के पास में रखना चाहिए।

रोज सोने के पहले हर दिन होने वाले अच्छी बातों को लिख देना चाहिए, हमारे साथ जितने भी अच्छी चीजें हुई हैं, उसके लिए यूनिवर्स को थैंक्स भी बोलना या लिखना (Gratitude) चाहिए।

रोजाना हर दिन के बारे में अच्छा लिखने से जब यह साल बीत जाएगा, जब हम पीछे मुड़ कर देखेंगे तो ऐसा लगेगा कि इस साल हमारे साथ सिर्फ अच्छी चीजें ही हुई है।

Journal लिखने से हमारा माइंड अच्छी चीजों को आकर्षित करना और बेकार चीजों को दूर फेकना सीख जाता है और ऐसे ही माइंड को हम स्ट्रांग माइंड कह सकते हैं।

4. Uncomfortable Truth को स्वीकार करना सीखें

Uncomfortable Truths जिसको हिंदी में कहा जाता है कि “कड़वा सच”। जीवन की डगर हमेशा एक जैसी नहीं होती है, इसमें कई तरह के मोड़ आते जाते रहते हैं।

जिंदगी में कई बार हालात ऐसे होते है कि लगता है कि ऐसा क्यों है? ऐसा तो नहीं होना चाहिए।

लेकिन ऐसा होना जरूरी होता है। ऐसे truth को accept करना आना चाहिए। यह Uncomfortable truths कई तरह के होते है। जैसे:

“मुझे कभी असफलता नहीं मिलेगी”,

“जो मेरे साथ है, वो हमेशा मेरे साथ रहेगा”

“मुझे सब आता है, मुझे सीखने की क्या जरुरत है?”

इस तरह की जो बातें होती है वह हमारे खुद के बनाए हुए beliefs होते हैं जो सच नहीं होते हैं। और भी कई प्रकार के truths होते है, इनको हमें accept करना आना चाहिए।

5. अपना समय दूसरों को खुश करने में बर्बाद मत करें

Mentally strong इंसान कभी खुद का टाइम दूसरों को Sorry कहने में या खुश करने में बर्बाद नहीं करते हैं।

जिसको आपको समझना है, वो आपको समझेगा और जिसको नहीं समझना है, उसे कितना भी खुश कर लो वो आपको नहीं समझेगा।

हम चाह कर भी सभी को खुश नहीं रख सकते। किसी न किसी वजह से कोई न कोई हमेशा आपसे उदास होता रहेगा।

इसलिए भलाई इसी में है कि जिसको उदास होना है हो जाए। आप आगे बढ़ते रहिए। सबको खुश करना कभी संभव नहीं है।

कोई भी आकर आपकी जिंदगी नहीं संवार सकता है, यह काम आपको खुद ही करना है। मानसिक रूप से मजबूत बनना है तो दूसरे लोगों को खुश करना छोड़ दें।

अपने काम से काम रखें। जब जरूरत हो तो अपनी बात को क्लियर करें लेकिन अपना नुकसान करके दूसरों को खुश करने से आपको कुछ नहीं मिलने वाला।

6. किसी को अपनी शक्ति कंट्रोल करने की अनुमति नहीं दें

जीवन में हम कई बार जाने अनजाने में दूसरों लोगों को बहुत ज्यादा अहमियत देने लगते हैं। इसका नतीजा यह होता है कि वो लोग धीरे धीरे हमारे लाइफ को कंट्रोल करने लगते हैं और हम पर अपनी हुकूमत चलाने लगते हैं।

Mentally strong इंसान ऐसे लोगों पर सबसे पहले लगाम लगाते हैं और अपने जिंदगी की बागडोर अपने हाथ में रखते हैं।

अपनी जिंदगी में सारे फैसले आपके होने चाहिए किसी दूसरे के नहीं। आप अपनी जिंदगी से क्या चाहते हैं? से लेकर आपको क्या हासिल करना है? सब कुछ आपके हिसाब से होना चाहिए।

7. जीवन में आये बदलाव को स्वीकार करना सीखें

Mentally strong people बदलाव को स्वीकार करते हैं और अपने आपको हमेशा positive changes के लिए तैयार रखते हैं।

उनको पता होता है कि बदलाव जीवन का हिस्सा है, हमेशा कुछ भी एक जैसा नहीं रह सकता है इसलिए वो अपने skill को भी समय समय पर sharp करते रहते हैं, खुद को अपडेट करते रहते हैं।

आज की दुनिया किसी एक चीज में अटके रहने के बारे में नहीं बताती बल्कि समय के साथ सकारात्मक परिवर्तन चाहती है।

आपको बदलाव पर हमेशा नजर रखनी चाहिए। जरूरत हो तो सकारात्मक रूप से बदलने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।

समय की रफ़्तार से साथ बदलने की आदत रखने वाला व्यक्ति सफल भी होता है और मानसिक रूप से मजबूत भी बनता है।

8. जिस चीज को कंट्रोल नहीं कर सकते उस पर अपनी एनर्जी बर्बाद मत करें

Mentally strong people ट्रैफिक जैम होने पर या सामान खो जाने पर या किसी को छोड़ कर चले जाने पर कभी मातम नहीं मनाते हैं।

उनको पता होता है कि जिंदगी के कई सारे aspects को हम कंट्रोल नहीं कर सकते है इसलिए वो अपना समय इन सारी चीजों पर कभी बर्बाद नहीं करते हैं

मानसिक रूप से मजबूत लोग उन कार्यों को अच्छी तरह और जिम्मेदारी के साथ करते हैं जिनपर वह कंट्रोल कर सकते हैं।

साथ ही जिन चीजों पर उनका कंट्रोल नहीं है, जरुरत होने पर वह वो कार्य करते तो हैं लेकिन जब ऐसा समय आता है जब वह अपना कार्य करने के लिए रूकावट महसूस करते हैं तो उन चीजों को कंट्रोल करने में अपना समय बर्बाद न करके किसी और काम में ध्यान लगाते हैं और जब रुकावट दूर हो जाती है तो रुके हुए काम को भी पूरा कर लेते हैं।

9. अपने बुरे Past को अपने Present से न जोड़ें

Mentally strong people को पता होता है कि हम जो आज करेंगे, उसका रिजल्ट हमें भविष्य में मिलेगा।

Mentally weak लोग अपने बुरे अतीत से इतने आहत होते हैं कि उसके बारे में सोच सोचकर अपना वर्तमान भी ख़राब करते रहते हैं।

और जब उनका वर्तमान बुरा होता है तो उनका भविष्य भी अच्छा नहीं हो सकता।

किसी को भी अपनी असफलताओं और बुरे अतीत को पकड़कर नहीं बैठना चाहिए बल्कि वह करना चाहिए जो एक मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति ऐसे समय पर करता।

एक मानसिक रूप से मजबूत व्यक्ति ऐसे समय में अतीत की बुरी घटनाओं में नही खोया रहता बल्कि वह उन घटनाओं से सीखता।

अतीत से सीखकर वह अपने वर्तमान और भविष्य को अच्छा बनाता और हमेशा आगे बढ़ने का विचार रखता न ही पीछे के बारे में सोचकर दुखी होने का। इसलिए Past से सीखो और सफलता की आगे बढ़ जाओ।

यह भी पढ़े: 5 चीज़े को कामयाब इंसान कभी नहीं करते

10. दूसरे लोगों के सफलता की प्रशंसा करें, उनसे ईर्ष्या न करें

अपने पड़ोसी की सफलता पर खुश होना Mentally strong people की पहचान होती है। Mentally strong people दूसरे लोगों की सफलता देख कर कभी ईर्ष्या नहीं करते हैं। कभी जलन महसूस नहीं करते है।

वो दूसरे लोगों के तरक्की से जलते नहीं हैं बल्कि उनसे सीखते हैं और दूसरे लोगों के Success पर उनको Congrats करते हैं।

सामने वाले के मेहनत और efforts के लिए वो उनकी सच्ची तारीफ करते हैं। मानसिक रूप से मजबूत बनने के लिए आपको भी अपने classmate, अपने सहकर्मी के सफलता पर उसे बधाई देनी चाहिए।

ऐसी छोटी छोटी आदतों से बड़े बड़े परिवर्तन देखने को मिलते हैं।

सच यह है कि किसी की सफलता पर खुश होने से आपको वह सब सीखने को मिलता है जिस वजह से दूसरा व्यक्ति सफल हुआ है।

लेकिन दूसरे की सफलता से ईर्ष्या करने पर आप उससे संबंध भी अच्छे नहीं रख पाते और कुछ सीखने की वजाय आप ईर्ष्या करने में अपना समय बर्बाद करते हैं।

11. कभी भी पहली असफलता मिलने पर Give Up ना करें

Mentally strong people असफलता को हमेशा सीखने के रूप में या अवसर के रूप में लेते हैं। उनको पता होता है कि जीवन में हर बार सफलता मिलना जरूरी नहीं है।

कई बार असफलता भी मिलती है। इसलिए असफलता को देख कर कभी भी ऐसे लोग Give up नहीं करते हैं।

बल्कि एक बार fail हो जाने के बाद वो लोग फिर से शुरू करते है और हमेशा Improvement करते रहते हैं।

वह हमेशा प्रयास करते रहते हैं और तब तक प्रयास करते हैं जब तक उनको सही डायरेक्शन या सफलता नहीं मिल जाती।

असफलता मिली, कोई बात नहीं, उससे सीखो और आगे बढ़ो। Do Not Give Up In Life.

12. कभी भी “जल्दी परिणाम” के बारे में मत सोचें

हर काम का एक अपना process होता है, हर चीज को पूरा होने में एक समय लगता है। काम complete हो जाने के बाद भी हमें रिजल्ट आने में समय लगता है।

Mentally weak इंसान में सब्र नाम की कोई चीज नहीं होती है। वो हमेशा सोचते है कि काम करने के बाद तुरंत बाद रिजल्ट मिल जाए, जो कदापि मुमकिन नहीं होता है।

जबकि Mentally strong people कभी भी immediate results की उम्मीद नहीं करते है और वो हमेशा अपने समय और Skills का सही तरीके से इस्तेमाल करना जानते हैं।

वह धैर्य रखना जानते हैं। जिस काम को पूरा करने के लिए जितनी ऊर्जा या समय की जरुरत होती है उस ऊर्जा और समय को दिए बिना आप उस काम में अच्छे रिजल्ट नहीं प्राप्त कर सकते।

13. अकेले होने से मत घबराइए बल्कि कुछ समय अकेले रहना सीखिए

Mentally weak लोगों का सबसे बड़ा डर यही होता है कि वो अकेले रहने से, खुद के साथ समय बिताने से घबरा जाते हैं।

उनके खुद के विचार उन पे हावी हो जाते है और ऐसे लोग हमेशा भीड़ का हिस्सा बने रहना पसंद करते हैं।

जबकि mentally strong people कभी खुद की संगत से घबराते नहीं हैं। Mentally strong people खुद के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं।

उनके विचार उनको हमेशा Self motivated रखते है। ऐसे इंसान अकेला होने पर भी खुश रहता है।

मानसिक रूप से मजबूत बनने के लिए जरूरी है कि आप की खुद की संगत को एंज्वॉय करें। खुद का साथ खुश रहना सीखें।

यह स्किल जीवन के हर मुश्किल से मुश्किल situation में भी आपको हमेशा मदद करेगी।

दिन में कुछ समय अकेले रहने पर आप केवल अपने विचारों के साथ होते हैं, आप खुद से बात कर पाते हैं और समझ पाते है कि आपकी समस्याएं क्या हैं? उन समस्याओं के समाधान क्या हैं?

कुछ समय अकेले रहने से आप रिचार्ज हो जाते हैं और फ्रेश फील करते हैं।

अकेले रहना अधिकतर लोगों के लिए मुश्किल जरूर है लेकिन मानसिक रूप से मजबूत लोग ऐसा बखूबी कर पाते हैं और इसका फायदा भी लेते हैं।

ऊपर बताई गई सारी चीजें प्रैक्टिकल है। इसे कोई भी आसानी से adopt कर सकता है और अपने Life में आगे बढ़ सकता है।

ऊपर बताई गई टिप्स और सलाह को अपने जीवन में Follow करे और आगे बढ़ते रहें। आशा करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा।

अंतिम शब्द

काफी लोग ऐसा सोचते है की उन्हें कुछ सिखने की जरुरत नहीं और उन्हें सब कुछ आता है और यही एक गलती है जो किसी इंसान को आगे बढ़ने नहीं देती कहने का मतलब है की काफी लोग ऐसा सोचते है की वे mentally काफी strong है और वे उन बातो को जानना पसंद ही नहीं करते जिसकी वजह से वे और आगे बढ़ सकते है और मै एक बात और और कहना चाहता हु की इन दिए गए तरीको को आप जरूर अपनी ज़िंदगी में शामिल करके देखे क्योकि सिर्फ ज्ञान प्राप्त करने से कुछ नहीं होता उसे आपको अपनी ज़िंदगी में अपनाना भी होगा |

और पढ़े:-

Write A Comment