अपनी ज़िंदगी में हर व्यक्ति सफल होना चाहता है सफलता का मतलब हम कह सकते है की अपनी ज़िंदगी में वो करना जो हम करना चाहते हो काफी लोग ऐसा समझते है की ज्यादा पैसा कमाना ही सफलता है हाला की इसमें कोई बुराई नहीं है पर मान लो की आपको अधिक पैसो वाली कोई नौकरी मिल जाती है पर आपका बॉस आपको काफी परेशां करता है तब आप क्या खुश रह पाएंगे या फिर क्या आप खुद को सफल कह पाएंगे।

हाला की मैंने ये सिर्फ उदारण के तौर पर आपको बताया है मेरे कहने का मतलब डायरेक्टली या इंदिरेक्ट्ली काम से जुड़ा हुआ है जैसा की कामयाब लोग कहते है की अपनी ज़िंदगी में वो ही काम करे जो आपको पसंद है और वो ही काम आप लम्बे समय तक कर पाते है और उसमे सफलता भी पा लेते है।

ये तो हुआ सफलता का मतलब पर क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है की आखिर सफल लोग किस तरह से सोचते है की वे अपनी ज़िंदगी में वो सफलता हासिल कर लेते है जो की शायद किसी का सपना होता है शायद ये सवाल आपके अंदर भी आता होगा तो मेरे दोस्त यह आर्टिकल आपके लिए ही है क्योकि इस आर्टिकल में हमने इसी बात की चर्चा की है की एक सफल इंसान किस तरह से सोचता है ताकि उनके सोचने के तरीको को हम अपनी ज़िंदगी में भी अपनाकर सफलता के रास्तो में चल सके |

सफल इंसान का mindset

आपने बहुत से बेहद सफल लोगों के बारे में सुन और पढ़ रखा होगा! सफल लोग किस तरह सोचते हैं? (Mindset of a Successful Person) यह भी आपने पढ़ा होगा! पर आप बता सकते हैं कि-

Mindset of Successful Person

1- क्या सफल लोग अपने प्रत्येक कार्य या लक्ष्य में सफल होते हैं?

2- सफल लोग समस्या आने पर क्या करते हैं?

3- उनका जब असफलता से सामना होता है तो वह कैसे रिएक्ट करते हैं?

4- सफल लोग सामान्य लोगों से किस प्रकार और किन चीजों में अलग होते हैं?

5- उनका अपने कार्य के प्रति क्या माइंडसेट होता है? (Mindset of a Successful Person)

आइये आज इन्हीं प्रश्नों के उत्तर जानने की कोशिश करते हैं।

अगर शारीरिक रूप से देखें तो सबसे बड़ी रियलिटी यह है कि एक बेहद अमीर व्यक्ति और एक सामान्य व्यक्ति में शारीरिक रूप से कोई भी अंतर नहीं मिलता है।

ईश्वर ने दुनिया के सभी लोगों को सामान्यतया शारीरिक रूप से एक समान बनाया है। यदि शारीरिक रूप से दुनिया के सभी लोग लगभग एक जैसे हैं तो अंतर किस चीज का रह जाता है?

शायद मानसिक रूप से हम सभी अलग अलग हैं! क्या यह बात सही है? इस बात को जरा ध्यान से समझते हैं।

दुनिया के सभी लोगों को ईश्वर ने दिमाग के रूप में एक ऐसा अनंत रूप से फैला हुआ एक ऐसा फर्टाइल मैदान दिया है जिसमे हम जो भी बीज बोते हैं उसमे से वैसी ही फसल हमें प्राप्त होती है।

इस तरह ईश्वर ने हम सभी को फर्टाइल मैदान (माइंड) एक सा दिया है लेकिन हम उस मैदान में किस तरह के बीज (विचार) लगाते हैं, यही बीज हम सभी को अलग अलग बना दते हैं।

जिस तरह के विचार हम अपने माइंड को देते हैं वैसे ही हम एक्शन लेने को प्रेरित होते हैं और जिस तरह के एक्शन्स हम लेते हैं वही 90% यह निर्णय करते हैं कि वह व्यक्ति सफल बनेगा, असफल बनेगा या एक सामान्य जीवन जियेगा।

अब यह क्लियर हो चुका सफल और असफल लोगों में विचारों का अंतर सबसे बड़े अंतरों में से एक अंतर होता है। लेकिन……

क्या सफल लोग अपने प्रत्येक कार्य में सफल होते हैं?

इसका उत्तर है- नहीं ! सफल लोग अपने प्रत्येक कार्य या निर्णय (Decision) में सफल नहीं होते हैं।

यहाँ यह बात क्लियर कर देना चाहता हूँ कि सामान्यतया सफल लोग एक ही लक्ष्य (Goal) पर कार्य करते हैं। वह अपना लक्ष्य कभी नहीं बदलते लेकिन लक्ष्य तक पहुंचने के तरीके को बदल लेते हैं।

वह उन निर्णयों को बदल लेते हैं जो उन्होंने लक्ष्य प्राप्त करने के खातिर लिए तो थे लेकिन यदि वह निर्णय उन्हें उनके लक्ष्य को पाने में सहायता नहीं कर रहे तो वह उन निर्णयों को तुरंत बदल लेते हैं।

यही निर्णय या तरीके जब वह बदलते हैं तो दुनिया को कुछ समय के लिए लगता है कि वह असफल हो गए हैं लेकिन अच्छे और ग्रोथ विचारों के मालिक होने के कारण ऐसे लोगों की सक्सेस कुछ ही समय बाद सभी के सामने आ जाती है।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अब उन्हें अपने सही निर्णयों के कारण वह तरीका मिल जाता है जिसकी वजह से वह अपने लक्ष्य तक पहुंच पाते हैं। लेकिन…….

यदि सफलता के रास्ते में यदि कोई बड़ी समस्या आ जाये तो सफल लोग क्या करते हैं?

दोस्तों, यह एक ऐसा प्रश्न है जिसका उत्तर आपको असफल और सफल लोगों में अंतर तो बताएगा। साथ ही साथ सफल और बेहद सफल लोगों में भी अंतर बताएगा।

यदि सफलता के रास्ते पर चलते हुए लोगों को अपने कार्य के बदले सीधे रिजल्ट मिलते चले जाएँ तो बहुत से लोग आपको सफलता के शिखर पर नजर आने लगेंगे लेकिन ऐसा नहीं होता, क्यों?

ऐसा इसलिए नहीं होता क्योंकि सफलता के रास्ते में हमें समस्या के रूप में जो कांटे मिलते हैं जो हमारे पैरों में लगातार चुभते रहते हैं।

कोई भी सामान्य व्यक्ति इन्हीं समस्याओं से घबराकर या तो वापस लौट आता है या फिर उसके सपने वहीँ अपना दम तोड़ देते हैं। वह समस्या का सामना नहीं कर पाते।

अब जब बात सफल लोगों की आती है तो वह समस्या आने पर डरते या भागते नहीं बल्कि उसका सामना करते हैं, उसे सॉल्व करते हैं और फिर आगे बढ़ जाते हैं।

मैंने आपको बताया था कि हमारे विचार और एक्शन्स 90% यह निर्णय कर देते हैं कि हम अपने लक्ष्य तक पहुंच जायेंगे लेकिन बाकी का बचा 10% तभी काम करता है जब हममे समस्याओं का सामना करने की स्किल आ जाती है।

यही वह 10 % है जो हर कोई डेवेलप कर तो सकता है लेकिन कर नहीं पाता है।

बेहद सफल लोग खुद को इतना बड़ा बना लेते हैं कि बड़ी से बड़ी समस्या उनके सामने छोटी पड़ जाती है और उनके सामने ज्यादा देर टिक नहीं पाती।

यहाँ सीख यह मिलती है कि समस्या आने पर भागना नहीं चाहिए बल्कि उसका सामना करके, उसे मिटाकर आगे बढ़ जाना चाहिए। लेकिन…….

कभी-कभी ऐसा होता है कि सफल लोग असफल भी हो जाते हैं, इस स्थिति का वह कैसे सामना करते हैं?

कोई भी सामान्य व्यक्ति जब असफल होता है तो वह टूट जाता है। आगे की प्लानिंग की हिम्मत नहीं जुटा पाता और खुद को एक असफल इंसान मानकर अपनी पूरी जिंदगी गुजार देता है।

लेकिन एक सफल व्यक्ति जब भी असफल होता है तो वह इसे सफलता और बड़ी सफलता के बीच आयी एक ऐसी समस्या या सीख या गलती मानकर चलता है जिसे वह फिर कभी नहीं दोहराएगा।

असफलता वह है जो हमें बताती है कि आप सफलता पाने का गलत तरीका अपना रहे है हैं तो कृपया सही तरीका पाना लीजिये। और जब हम सही तरीका अपना लेते हैं तो सफलता भी मिल जाती है।

अच्छा कुछ लोग यह भी पूछते हैं कि-

सफल लोग सामान्य लोगों से किस प्रकार और किन चीजों में अलग होते हैं?

इस प्रश्न के उत्तर का कुछ पार्ट तो आपको अभी तक का लेख पढ़कर समझ आ गया होगा, उनमे से कुछ को और बाकी कुछ को मैं आपको बताता हूँ। सफल लोगों और सामान्य लोगों में कुछ मुख्य अंतर इस प्रकार हैं-

1- सामान्य लोग समस्या आने पर टूट जाते हैं बल्कि सफल लोग समस्या का सामना करते हैं और उसे सॉल्व करने के बाद रिकॉर्ड तोड़ देते हैं।

2- सामान्य लोग सामान्य विचारों के बीज अपने माइंड में बोते हैं और उससे बने सामान्य प्रोडक्ट ही प्राप्त करते हैं जबकि सफल लोग अच्छे विचारों को बीज के रूप मे बोते हैं और सफलता की फसल काटते हैं।

3- सामान्य लोग सफल होना तो चाहते हैं लेकिन सफल होने के लिए कोई लक्ष्य या ठोस प्लानिंग उनके पास नहीं होती बल्कि सफल लोग सबसे पहले लक्ष्य तय करते हैं फिर उस तक पहुंचने का रास्ता एक सॉलिड प्लानिंग के साथ खुद बनाते हैं और इसे पूरा भी करते हैं।

4- सामान्य लोग बहुत बड़ा नहीं सोच पाते, ऐसा करने पर उन्हें डर और असुविधा का अनुभव होता है जबकि सफल लोग बहुत बड़ा सोच पाते हैं और इसलिए वह बड़ा कर भी पाते हैं।

5- सामान्य लोग अपनी साधारण आदतों क्र गुलाम होते हैं जबकि सफल लोग खुद कुछ ऐसी आदतें विकसित करते हैं जो उन्हें फर्श से अर्श तक ले जाती हैं।

इतना कुछ सफल लोगों के बारे में जानने के बाद आइये जानते हैं कि-

सफल लोग अपने कार्य के प्रति किस प्रकार का माइंडसेट रखते हैं?

इसका उतर देने से पहले आपको बता दूँ कि दुनिया का शायद ही कोई इंसान होगा जो हार्ड वर्क करना चाहता हो, उसको आराम पसंद न हो या जिसे घूमना और अपने परिवार के साथ समय बिताना अच्छा न लगता हो।

लेकिन सफल होने के लिए बहुत कुछ करना होता है, जैसे हार्ड वर्क, सुबह जल्दी उठना, एक्सरसाइज करना, प्लानिंग बनाना आदि।

सफल लोग इच्छा न होते हुए भी यह सभी कार्य करते हैं या फिर यह सभी कामों को करने का माइंडसेट (Mindset of a Successful Person) अपने अंदर विकसित कर लेते हैं।

सफल लोग ऐसा माइंडसेट बना लेते हैं जिसकी वजह से वह कोई भी कार्य जो जरुरी हो, उसे वह आसानी से पूरा कर पाते हैं।

एक अच्छा सफल माइंडसेट (Mindset of a Successful Person) बनाने के लिए सफल लोग यह सभी कार्य करते हैं-

1– सफल लोग अपने कार्य से प्यार करना सीख लेते हैं या फिर वही कार्य करते हैं जिसे वह चाहते हैं।

2- सफल लोग डिसिप्लिन के साथ साथ सेल्फ डिसिप्लिन में रहते हैं जिससे उन्हें कोई डिस्ट्रक्ट नहीं कर सकता।

3- सफल लोग बाहर से मोटिवेशन नहीं लेते बल्कि वह एक सेल्फ मोटिवेटेड पर्सन होते हैं।

4- सफल लोग सबसे पहले दुनिया को कुछ अच्छा देते हैं फिर उसके बाद कुछ पाने की सोचते हैं।

5- सफल लोग जानते हैं कि बड़ी सफलता के लिए बड़ी ऊर्जा की जरुरत होती है, इसलिए वह इस ऊर्जा को लगाने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।

सलाह

सफलता का राज़ जान लेना या फिर किसी कामयाब इंसान का मिंडसेट जानलेना कोई बड़ी बात नहीं है दोस्तों क्योकि आज के समय में ये सारी चीज़े आसानी से आपको कोई भी youtube या google के माध्यम से बता सकता है पर जो चीज़ सबसे ज्यादा इम्पोर्टेन्ट है वो है इस लिए गए ज्ञान को अपनी ज़िंदगी में अपनाना और तभी आप सफलता की सीडीओ में चढ़ पाएंगे।

Write A Comment